अजीब खेल है ये मोहब्बत का

अजीब खेल है ये मोहब्बत का . . किसी को हम न मिले, कोई हमें ना मिला!

अगर है किसी मे टूटने की हिम्मत है…

अगर है किसी मे टूटने की हिम्मत है… तो मुबारक हो..इश्क़ कर लीजिये.. #बज़्म

तुम्हारी आँखें बता रही हैं

तुम्हारी आँखें बता रही हैं कि तुम ने सपने बहा दिए हैं

बहुत तब्दीलियाँ आई हैं मुझमे

बहुत तब्दीलियाँ आई हैं मुझमे बस तुझे याद करने की वो आदत नहीं गयी💕….!!!

जो मुझे बस खोने से डरता हो

कोई ऐसा सख्श मुझे भी दे… ऐ मौला.. जो मुझे बस खोने से डरता हो…!!!

रोज़ रोज़ जलते हैं

रोज़ रोज़ जलते हैं, फिर भी खाक़ न हुए, अजीब हैं कुछ ख़्वाब भी, बुझ कर भी राख़ न हुए…

मिले तुम भी नहीं

नहीं मिला मुझे कोई तुम जैसा आज तलक, पर ये सितम अलग है कि मिले तुम भी नहीं..!

साँसों का टूट जाना तो बहुत छोटी सी बात है

साँसों का टूट जाना तो बहुत छोटी सी बात है दोस्तो, जब अपने याद करना छोड़ दे, मौत तो उसे कहते है !!

न ज़ख्म भरे, न शराब सहारा हुई.

न ज़ख्म भरे, न शराब सहारा हुई., न वो वापस लौटीं, न मोहब्बत दोबारा हुई..

तुमने तो फिर भी सीख लिए दुनिया के चाल चलन

तुमने तो फिर भी सीख लिए दुनिया के चाल चलन… हम तो कुछ भी ना कर सके बस मुहब्बत के सिवा !!