बस इतना ही है इश्क

फिर वही शाम,फिर वही चाय.. फिर वहीं तेरी,याद का आना.. फिर वही बेचैनी,फिर वहीं तलब.. फिर वही हर घुट में,तुझे महसूस कर जाना, फिर वही इंतज़ार,बस इतना ही है इश्क।❤❤❤

जो मिला उसमें ही खुश रहता हूँ

जो मिला उसमें ही खुश रहता हूँ, क्योंकि मेरी उंगलियां ही मुझे सिखाती हैं कि दुनिया में बराबर कोई नहीं !!

मुझे चाह नही गुलदस्तों की

मुझे चाह नही गुलदस्तों की . . . मैं तो खुश हूँ, महकते एक गुलाब से

तेरे जैसी बम को लेकर घुम रहा हूँ..

लडका – बेबी हर जगह सिक्योरिटी गेट पर मुझे इतना चेक क्यों करते हैं? लडकी – क्योंकि तु आंतकवादी लगता है इसलिए लडका – आंतकवादी लगुंगा ही क्योंकि तेरे जैसी बम को लेकर घुम रहा हूँ.. 😂😀😀😀😀

जो लोग दिल के अच्छे होते है

जो लोग दिल के अच्छे होते है,.. दिमाग वाले अक्सर उनका जम कर फायदा उठाते है 🙏सुप्रभात 🙏

जहा दूसरे को समझाना मुश्किल हो जाये

जहा दूसरे को समझाना मुश्किल हो जाये, . . . वहा खुद को समझा लेना बहतर होता है…..

फासलों का एहसास

फासलों का एहसास तब हुआ.. जब मैंने कहा हम ठीक हैं… . . . और उन्होंने मान लिया.!!

मेरी तक़दीर में एक भी गम ना होता

मेरी तक़दीर में एक भी गम ना होता, अगर तक़दीर लिखने का हक़ मेरी माँ को होता..!!

स्कूल का वो बस्ता मुझे फिर से थमा दे माँ

स्कूल का वो बस्ता मुझे फिर से थमा दे माँ, . . . . ये ज़िन्दगी का सफर मुझे बड़ा मुश्किल लगता हैं!

जितने सिक्कों से माँ मेरी नज़र उतारा करती थी

कमा के इतनी दौलत भी मैं अपनी ‪‎माँ‬ को दे ना पाया, . . . . के जितने सिक्कों से माँ मेरी नज़र उतारा करती थी..!!