तुझे मुफ़्त में जो मिल गये हम

तुझे मुफ़्त में जो मिल गये हम . . . तू क़दर ना करें ये तेरा हक़ बनता है… .

मगर वो मेरा न हुआ..

धागा भी दरख़्त पर बांध कर देखा…. . . . सुख गया दरख़्त मगर वो मेरा न हुआ..

गलतियों से जुदा तू भी नही, मैं भी नही

गलतियों से जुदा तू भी नही, मैं भी नही, दोनों इंसान हैं, खुदा तू भी नही, मैं भी नहीं तू मुझे औऱ मैं तुझे इल्जाम देते हैं मगर, अपने अंदर झाँकता तू भी नही, मैं भी नही गलतफमियों ने कर दी दोनो मे पैदा दूरियां वरना बुरा तूभी नही, मैं …

आजकल वही वक्त चल रहा है

एक बक्त ऐसा भी आता है.. जब सब कुछ अच्छा होने के बाद भी…… मुस्कराने को दिल नहीं करता…. . . . बस आजकल वही वक्त चल रहा है….

मर जाये वो मजबूरियाँ

काश मर जाये वो मजबूरियाँ, . . . . . . जिनकी वजह से तुम मुझसे दूर हो !! 😐☹️☹️☹️

मेरी मोहब्बत तुम्हारी समझ ना आएगी

जाने दीजिए साहिब… मेरी मोहब्बत तुम्हारी समझ ना आएगी,,, जिसने रुलाया है… उसको गले से लगाकर रोने को जी चाहता है…!!!🖊️

कुछ लोग अपनें लम्हें सँवारने के लिए

कुछ लोग अपनें लम्हें सँवारने के लिए . . . . दूसरों की सदियाँ वीरान कर देते हैं

मुस्कान झूठी है

आंखों के नीचे काले घेरे बताते है . . . . होंठो पर जो मुस्कान है झूठी है 💔

अब भी जिंदा हूँ तुममे

खुशी के माहौल में भी मेरा लिखा पढ़कर रो पड़ो . . . . तो समझ लेना कि मैं अब भी जिंदा हूँ तुममे !!

मोहब्बत से भी गहरी होती है

ना चाहते हुए भी छोड़ना पड़ता है … . . . . कुछ मजबूरियां , मोहब्बत से भी गहरी होती है ,