Month: August 2020

कड़वा सच

कड़वा सच

गरीब आदमी जमीन पर बैठ जाये
तो वो जगह उसकी औकात कहलाती है

और अगर कोई धनवान बैठ जाये तो ये उसका बड़प्पन कहलाता है!🤔

शुभ रात्रि🙏🏻

पुरुष का रोना

पुरुष रोता नहीं है पर जब वो रोता है, रोम-रोम से रोता है।

.

.

उसकी व्यथा पत्थर में दरार कर सकती है
~ हरिशंकर परसाई

धर्म शोषण या भाग्यवाद

धर्म चालाक आदमी का शोषण का हथियार है और भोले आदमी के लिए भाग्यवाद की अफीम

.

धर्म पर कब्ज़ा वह वर्ग कर लेता है जिसके अधिकार में उत्पादन के साधन होते हैं

~ हरिशंकर परसाई

बेइज्जती

बेइज्जती में अगर दूसरे को भी शामिल कर लो

.

.

तो आधी इज्जत बच जाती है!

हरिशंकर परसाई

श्रम का पसीने

जिन्हें पसीना सिर्फ़ गर्मी और भय से आता है,

.

.

वे श्रम के पसीने से बहुत डरते हैं!

हरिशंकर परसाई

Whatsapp Facebook StatusJokes,Shayari,Quotes © 2021 Frontier Theme