कसम मेरे नाम की

हर रोज़ खा जाते थे वो कसम मेरे नाम की,

.

.

.
आज पता चला की जिंदगी धीरे धीरे ख़त्म क्यूँ हो रही है.

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *