घुटन क्या होती है

घुटन क्या चीज़ है, ये पूछिये उस बच्चे से . . . जो काम करता हैं “इक खिलोने की दुकान पर “

प्रेमिकाएँ पत्नियाँ होना चाहती रहीं

प्रेमिकाएँ पत्नियाँ होना चाहती रहीं… और पत्नियाँ प्रेमिकाएँ…. . . . कोई पुरुष किसी स्त्री को शायद पूरा मिला ही नहीं…

दिया जरुर जलाऊंगा

दिया जरुर जलाऊंगा चाहे मुझे ईश्वर मिले न मिले, . . . हो सकता है दीपक की रोशनी से किसी मुसाफिर को ठोकर न लगे….

प्रभू को भी पसंद नहीं

प्रभू को भी पसंद नहीं सख्ती बयान में… . . . इसी लिए हड्डी नहीं दी, जबाऩ में..|।।

तकदीर

काश तकदीर भी होती किसी जुल्फ की तरह… . . . . जब जब बिखरती संवार लेते…

इस दुनिया में कुछ अच्छा रहने दो

इस दुनिया में कुछ अच्छा रहने दो . . . . बच्चों को बस, बच्चा रह ने दो …

तुम्हारा लक्ष्य अगर बड़ा हो

तुम्हारा लक्ष्य अगर बड़ा हो और उस पे हंसने वाले न हो तो . . . समझना लक्ष्य अभी छोटा है …………

हर रिश्ते मे मिलावट देखीं,

हर रिश्ते मे मिलावट देखीं, कच्चे रँगों क़ी सजावट देखी। लेकिन सालों-साल देखा है माँ को, उसके चेहरे पर ना थकावट देखीं, ना ममता मे मिलावट देखी।

नफरत करके

नफरत करके क्यो बढ़ाते हो अहमियत किसी की . . . माफ करके शर्मिंदा करने का तरीका भी तो कुछ बुरा नहीं

चाहे तो नाप कर देख लो

गलती हो जाने पर, सॉरी बोल देने से… . . . . . इन्सान छोटा नहीं हो जाता, चाहे तो नाप कर देख लो.. 🤣🤣🤣😝😝😝😆😆