मुझे चाह नही गुलदस्तों की

मुझे चाह नही गुलदस्तों की . . . मैं तो खुश हूँ, महकते एक गुलाब से

कोई याद किया करता है

ऐ हवा तू ही उसे ईद-मुबारक कहियो और कहियो कि कोई याद किया करता है #EidMubarak

इश्क़ का हिसाब

इश्क़ का तो ऐसा हिसाब है कि . . . बंद हो चुका नंबर भी डिलीट करने को दिल नहीं करता…!!

नफरत

बहुत पाक रिश्ते होते है नफरतों के, कपड़े अक्सर मोहब्बत में ही उतरते हैं…

मोहब्बत

मोहब्बत भी उधार कि तरह होती है …. “साहब” लोग ले तो लेते है .. मगर देना भूल जाते है.

नसीब

क्यूँ हर बात में कोसते हो तुम लोग नसीब को, क्या नसीब ने कहा था की मोहब्बत कर लो !!

अगर है किसी मे टूटने की हिम्मत है…

अगर है किसी मे टूटने की हिम्मत है… तो मुबारक हो..इश्क़ कर लीजिये.. #बज़्म

मेरी तो बस एक छोटी सी ख्वाहिश है

मेरी तो बस एक छोटी सी ख्वाहिश है. की…. तुम्हारी कोई ख्वाहिश अधूरी ना रहे…..

डरता हूँ कहने से की मोहब्बत है तुम से

डरता हूँ कहने से की मोहब्बत है तुम से, कि मेरी जिंदगी बदल देगा तेरा इकरार भी और इनकार भी..

तुमने तो फिर भी सीख लिए दुनिया के चाल चलन

तुमने तो फिर भी सीख लिए दुनिया के चाल चलन… हम तो कुछ भी ना कर सके बस मुहब्बत के सिवा !!