एक आख़िरी मुलाक़ात

एक आख़िरी मुलाक़ात को
बुलाया था उसने
मैं नहीं गया,

यूँ न जाकर
मैंने बचाये रखी
एक आख़िरी मुलाक़ात

~ पंकज विश्वजीत