सब्र का फल

मुझे तो लगता है मेरा सब्र का फल कोई और खा गया

दिसम्बर की सर्दी है उस के ही जैसी

दिसम्बर की सर्दी है उस के ही जैसी . . . ज़रा सा जो छू ले बदन काँपता है ❣️🌹

इतना भी नाराज़ नहीं होना चाहिए

इतना भी नाराज़ नहीं होना चाहिए, की मनाने वाले भी बोले दे . . . भाड़ मे जा 😂😂😂

इश्क़ जब गहरा हो जाए

सुना है इश्क़ जब गहरा हो जाए तो आशिकों के चेहरे मिलने लगते हैं। ये तो बताओ.. तुम्हारे गालों पर भी भंवर पड़ते हैं क्या?

बाबू तुम्हारी याद मुझे सोने नहीं देती

जिन लौंडों को सुबह सुबह पापा की 10 गाली और माँ की 4 चप्पल उठाती है वो भी अपनी गर्लफ्रेंड से कहतें हैं…. “बाबू तुम्हारी याद मुझे सोने नहीं देती” 😆😂😆😂😆

सच्ची मोहब्बत

खाना खाते वक्त Bed-sheet से हाथ पोछ कर, . . . . गर्लफ़्रेंड को रिप्लाई करना भी सच्ची मोहब्बत है 😛

सब्र इतना रखो की इश्क़ बेहूदा ना बने

सब्र इतना रखो की इश्क़ बेहूदा ना बने . . . खुदा मेहबूब बन जाए … पर महबूब खुदा ना बने

उधार वालों को लोग भुलाया नहीं करते

रहने दो “उधार” इक मुलाकात यूं ही..! . . . . सुना है “उधार” वालों को “लोग” “भुलाया” नहीं करते..!!

पलाश के फूलों कि तरह

एक ख़ूबसूरत पेड़ जिसपे खिले थे लाल मखमली खूबसूरत फूल इसे देख अचानक ठहर गयी नज़र क्योंकि नहीं थी उसपे हरी पत्तियाँ दमक रही थी सूखी डाल फूलों से तभी याद आयी तुम्हारी कही बात उम्मीद जीवन की कभी छूटने मत देना यूँ ही मुस्कुराते रहना हर लम्हा इन पलाश …

फासला रखिये नहीं तो मोहब्बत हो जायेगी

फासला रखिये नहीं तो मोहब्बत हो जायेगी . . . फिर किसी की अम्मा नही मानेगी … किसी के अब्बा नहीं मानेंगे ,