Category: <span>Father’s Day</span>

Category: Father’s Day

पिताजी गणित हैं,और माँ?

पिताजी गणित हैं,
कठिन, समझ में नहीं आते
लेकिन सत्य भी वही हैं।

और माँ?
माँ, प्रेम है, साहित्य है।

माँ, एक कहानी सुनाती है,
जोकि काल्पनिक है।
जिससे हम सीखते हैं सत्य
और समझने लगते हैं गणित…

~देवेंद्र पाण्डेय(@SankrityaDev)

माँ की आँखों को अश्कों से सँवारना नही है तुझे

माँ की आँखों को अश्कों से सँवारना नही है तुझे
गिरते हुए को उठाना है मारना नही है तुझे ..!!

हर मात पर याद आती है मुझे वालिद की वो बात
ज़िन्दगी कितनी भी शिकस्त दे हारना नही है तुझे !!
#FathersDay

माँ छोटी मुसीबतों में काम आती है

#माँ छोटी मुसीबतों में काम आती है, और #पिता बड़ी मुसीबतों में,
.

.

.

.

जैसे अगर #चींटी काटी तो ‘उई माँ’ और अगर #शेर आ गया तो ‘अरे #बाप रे….
#FathersDay
#HappyFathersDay

पिता और पुत्र

#पिता की मूर्ति में जो छेद दिख रहे है

उन्ही से निकले गए टुकड़ों से बनी है पुत्र की मूर्ति !

बस ऐसे ही तो गढ़ता है

हर एक पिता अपनी संतान को !

#FathersDay
#HappyFathersDay