बहुत प्यार आता है तुम पर

मैंने कहा बहुत प्यार आता है तुम पर . . . . वो मुस्कुरा कर बोले और तुम्हे आता ही क्या है।

इश्क का धंधा

इश्क का धंधा बड़ा ही गन्दा.. . . . मुनाफे में “जेब” जले.. और घाटे में “दिल”

इश्क़ की किताब का उसुल

इश्क़ की किताब का उसुल है जनाब………….!! . . . मुड़ कर देखोगे… तो मोहब्बत मानी जाएगी………!! 😂😂😂😂😂

कभी टूट कर बिखरो तो बता देना

कभी टूट कर बिखरो तो बता देना . . . . समेट कर कचरे वाली गाड़ी में डाल दूंगा। 😁😁

अगले जन्म मैं

अगले जन्म मैं तुम्हें प्रेयसी नहीं भिक्षुणी बनकर मिलूँगी एकदम खाली हाथ मैंने मुट्ठी भर-भर तुम्हें जो सर्वस्व दिया है क्या तब तुम अंजुरी भर डालोगे मेरी झोली में? -समृद्धि

इश्क़ जब गहरा हो जाए

सुना है इश्क़ जब गहरा हो जाए तो आशिकों के चेहरे मिलने लगते हैं। ये तो बताओ.. तुम्हारे गालों पर भी भंवर पड़ते हैं क्या?

तलाश उनकी हैं

चेहरा खूबसूरत हैं तो आशिक़ों की कमी नहीं . . . . तलाश उनकी हैं जो झुर्रियों को भी दिल से चूमे

रोटी महँगी थी,हर चीज से

घर, मोहल्ला, शहर, इश्क़ सब चीज छोड़ना पड़ा . . . रोटी महँगी थी,हर चीज से !!

सब्र इतना रखो की इश्क़ बेहूदा ना बने

सब्र इतना रखो की इश्क़ बेहूदा ना बने . . . खुदा मेहबूब बन जाए … पर महबूब खुदा ना बने

पलाश के फूलों कि तरह

एक ख़ूबसूरत पेड़ जिसपे खिले थे लाल मखमली खूबसूरत फूल इसे देख अचानक ठहर गयी नज़र क्योंकि नहीं थी उसपे हरी पत्तियाँ दमक रही थी सूखी डाल फूलों से तभी याद आयी तुम्हारी कही बात उम्मीद जीवन की कभी छूटने मत देना यूँ ही मुस्कुराते रहना हर लम्हा इन पलाश …