ये तो जुल्म है ना

Dear #Soulmate लाजमी तो नहीं, मुझे हर वक़्त याद करो… बिल्कुल ही भूल जाओ, ये तो जुल्म है ना…!!!

प्रेम क्या है

प्रेम… किसी दीवार पे लगी खूँटी पे टंगी शर्ट नहीं है, जिसे आप जब चाहे पहन लो या जब चाहे फिर खूँटी पे टांग दो। 💕💕💕💕💕💕 आप प्रेम में हो, तो निरंतर प्रेम में हो, दिखावे के लिये आप शायद बोल भी दो की प्रेम नहीं है, पर आपका मन …

अब अगर मैं कभी रुठ जाऊं

My Dear Love अब अगर मैं कभी रुठ जाऊं तो मीठा दही खिला कर मना सकती हो !!

तुम मुझे हमेशा याद रहोगे

मैं तुम्हे याद रहूँ, या ना रहूँ, 💕 💕 बस इतना याद रखना की तुम मुझे हमेशा याद रहोगे

तेरे होठों की लिपस्टिक

लगने दो गर लगती है तेरे होठों की लिपस्टिक मेरे चेहरे पे, सालों से बोरो प्लस लगा लगा के ये भी बोर सा हुआ बैठा है । 😂😂😂

हम तेरे नाम को चुपके से पढ़ा करते हैं

अपनी मुट्ठी में छुपा कर किसी जुगनू की तरह हम तेरे नाम को चुपके से पढ़ा करते हैं ~अलीना इतरत

कोई याद किया करता है

ऐ हवा तू ही उसे ईद-मुबारक कहियो और कहियो कि कोई याद किया करता है #EidMubarak

सेहरी में पीये गए पानी की आखरी घूंट

एक सन्त ने एक बार बताया था कि मोहब्बत सेहरी में पीये गए पानी की आखरी घूंट की जैसी होनी चाहिए जिसके बाद दूसरे घूंट की गुंजाइश ही नहीं होनी चाहिए।

गुलज़ार साहब की नज़्म हो जैसे

उसकी आँखें गुलज़ार साहब की नज़्म हो जैसे… उसकी बातें जैसे क़ैफ़ी आज़मी की ‘तेरी ख़ुशबू में बसे ख़त’…

कुछ कुछ इश्क़ सा था

एक मकाम तक आकर उनका लौट जाना मुड़ मुड़कर फिर आना आकर सताना न जाने क्यों मेरी समझ से बाहर था वो कुछ कुछ इश्क़ सा था…..💕