Prem Me Padi Stri

प्रेम में पड़ी स्त्री को तुम्हारे साथ सोने से ज्यादा अच्छा लगता है तुम्हारे साथ जागना…!! -अमृता प्रीतम-

फिर वही तुम

हुए बदनाम मगर फिर भी न सुधर पाए हम.. फिर वही शायरी.. फिर वही इश्क़ फिर वही तुम..😘

Pagal

लोग कहते हैं की पागल का कोई भरोसा नहीं.. कोई ये नहीं समझता की ‘भरोसे’ ने ही उसे पागल किया है..

Kaisi Ho

कुछ रस्में मोहोब्बत में ऐसे भी निभाई हमनें पूछा जब कभी “कैसी हो? ” . . . कहा “अच्छी” हमने !!

Masaruf

तुम #मसरूफ़ हो तो.. #बारिश का कोई #हक़ नही… मेरे #शहर मे बरसने का .. मसरूफ़~व्यस्त

Na Khubsurat

ना खूबसूरत… ना अमीर… ना शातिर बनाया था. . . मेरे खुदा ने तो मुझे तेरे खातिर बनाया था..😐

Haq

हक दिया था तुम्हें… हाथ पकड़ कर रोक लेने का मुझे… पर तुम्हारी खामोशी ने पल में पराया कर दिया…!!

Ajib Paheli Ishq

अजीब पहेली है इश्क… सताता है, सहलाता है, हँसाता है, रुलाता है…. दर्द देता है… औऱ दर्द देने वाले के हक में ही रात सारी दुआँ पढ़वाता है।