पुकार पाओगी क्या..?

वो सारे नाम जो तुमने मुझे दिए थे अब उनसे किसी ओर को पुकार पाओगी क्या..? #अज्ञात

सवाल

इस बार उस की आँखों में इतने सवाल थे मैं भी सवाल बन के सवालों में रह गया

फासलों का एहसास

फासलों का एहसास तब हुआ.. जब मैंने कहा हम ठीक हैं… . . . और उन्होंने मान लिया.!!

थोडा इंतजार कर ए दिल

थोडा इंतजार कर ए दिल, . . . . उसे भी पता चल जाएगा की उसने खोया क्या है…

दरिया अगर सूख भी जाये

कैसे भूलेगी वो मेरी बरसोंकी चाहत को… . . . . दरिया अगर सूख भी जाये तो रेत से नमी नहीं जाती…

तेरी ख़ामोशी

कौन कहता है की दिल.. सिर्फ लफ्जों से दुखाया जाता है, तेरी ख़ामोशी भी कभी कभी.. आँखें नम कर देती है..

बहुत बुरा हूँ मैं

सफाईयाँ देना छोड़ दिया है मैंने, सीधी सी बात… बहुत बुरा हूँ मैं……..!!

जीना सब को नही आता…

मौत सबको आती है… अफ़सोस ! जीना सब को नही आता…

सेल्फी लेना मजबूरी हो गया है

बाहर जाकर सेल्फी लेना मजबूरी हो गया है खुश दिखना, खुश रहने से जरूरी हो गया है,

अजीब खेल है ये मोहब्बत का

अजीब खेल है ये मोहब्बत का . . किसी को हम न मिले, कोई हमें ना मिला!