जो ये दीवार का सुराख है साज़िश का हिस्सा है

जो ये दीवार का सुराख है साज़िश का हिस्सा है मगर हम इसे अपने घर का रोशन दान कहते है.. #राहत_इंदौरी

जो दुनिया में सुनाई दे उसे कहते हैं ख़ामोशी

जो दुनिया में सुनाई दे उसे कहते हैं ख़ामोशी जो आँखों में दिखाई दे उसे तूफ़ान कहते हैं! #राहतइंदौरी

राह में खतरे भी हैं लेकिन ठहरता कौन है

राह में खतरे भी हैं लेकिन ठहरता कौन है. मौत कल आती है आज आ जाए डरता कौन है. तेरे लश्कर के मुक़ाबिल में अकेला हूँ मगर फैसला मैदान में होगा के मरता कौन है…. – राहत इंदौरी