आजकल वही वक्त चल रहा है

एक बक्त ऐसा भी आता है.. जब सब कुछ अच्छा होने के बाद भी…… मुस्कराने को दिल नहीं करता…. . . . बस आजकल वही वक्त चल रहा है….

अब भी जिंदा हूँ तुममे

खुशी के माहौल में भी मेरा लिखा पढ़कर रो पड़ो . . . . तो समझ लेना कि मैं अब भी जिंदा हूँ तुममे !!

मोहब्बत से भी गहरी होती है

ना चाहते हुए भी छोड़ना पड़ता है … . . . . कुछ मजबूरियां , मोहब्बत से भी गहरी होती है ,

इतना सस्ता कभी नहीं रहा था मैं

इतना सस्ता कभी नहीं रहा था मैं ।। . . . . वो तो उसी के लिये रियायत ज्यादा थी।।

दिल से भी बहरा था

हम उसको सुनाते रहे गम की कहानियां। जो शख्स कान से ही नही दिल से भी बहरा था

कितनों की हीर है

समस्या ये भी गंभीर है . . . जिसे तूँ सिर्फ अपनी समझता है, वो पता नही कितनों की हीर है…

दफ़न सारे अहसास

सुनो, ये जो तुम रुठ के मुझसे हर बार चले जाते हो… दफ़न सारे अहसास बताओ कहां कर आते हो ?

जो अधूरा मुझे छोड़ गया है

उसको मुकम्मल लिखना चाहती हूं . . . जो अधूरा मुझे छोड़ गया है..💔

Haq

हक दिया था तुम्हें… हाथ पकड़ कर रोक लेने का मुझे… पर तुम्हारी खामोशी ने पल में पराया कर दिया…!!