गरीब गर्म हौसले ओढ़कर सो जाते है

रजाईयां नहीं हैं उनके नसीब में। गरीब गर्म हौसले ओढ़कर सो जाते है।।

इतना भी कीमती ना बना अपने आप को

इतना भी कीमती ना बना अपने आप को , हम गरीब लोग हैं महँगी चीज़ छोड़ दिया करते हैं 

मैँ गरीब था

क्या कमी थी मुझ मेँ.. जो तुमने मुझे छोड़ दिया.. वफ़ा करनी नहीँ आई या मैँ गरीब था.!!