स्टेट बैंक में खाता खुलवा कर

जरूरी नही कि पापों के प्रायश्चित के लिये आप दान पुण्य ही करें !

स्टेट बैंक में खाता खुलवा कर,

वहां बार बार अपमानित होकर भी

आप अपने पापों का प्रायश्चित कर सकते हैं 🙄😙🤔😁😋😆😍👍

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *