रेफरी मत बनो

जीवन में ऐसे खिलाड़ी बनो जो गोल( उद्धेश्य प्राप्ति ) के लिये दौड़ता है

.

.

.

रेफरी मत बनो जो गलतियाँ ढूँढने के लिये ही दौड़ता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *