नफरत करके

नफरत करके क्यो बढ़ाते हो अहमियत किसी की

.

.

.

माफ करके शर्मिंदा करने का तरीका भी तो कुछ बुरा नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *