मैं वो फल हूँ जो अपनो के पत्थर से टूटा हूँ

तू रंज न कर मैं तुझसे नही खुद से रुठा हूँ..

मैं वो फल हूँ जो अपनो के पत्थर से टूटा हूँ..

2

Leave a Reply