नहीं मांगता ऐ खुदा

नहीं मांगता ऐ खुदा कि, जिंदगी सौ साल की दे ! दे भले चंद लम्हों की, लेकिन कमाल की दे ….!!

जिंदगी मेरे कानो मे अभी होले से कुछ कह गई

जिंदगी मेरे कानो मे अभी होले से कुछ कह गई, उन रिश्तो को संभाले रखना जिन के बिना गुज़ारा नहीं होता।

जिस दिन तुम्हारा सबसे करीबी साथी तुम पर गुस्सा करना छोड दे

जिस दिन तुम्हारा सबसे करीबी साथी तुम पर गुस्सा करना छोड दे तब समझ लेना चाहिए कि तुम उस इंसान को खो चुके हो”

कोई अच्छा भी इस कदर न लगे…

खुद को खुद की खबर न लगे कोई अच्छा भी इस कदर न लगे…. आपको देखा है उस नजर से जिस नजर से आपको नजर न लगे ..

किसी की जीत पर रोने से कुछ नहीं होगा..

सबब तलाश करो….. अपने हार जाने का,, किसी की जीत पर रोने से कुछ नहीं होगा..

इन आँखों से भी जलन होती है मुझे

अब तो इन आँखों से भी जलन होती है मुझे… खुली हो तो ख्याल तेरे! बंद हो तो ख़्वाब तेरे!..

मुहब्बत के सिवा क्या देँगे….

उसने यह सोचकर अलविदा कह दिया…… गरीब लोग हैं, मुहब्बत के सिवा क्या देँगे…..!!

हाथ छूटे भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते

“हाथ छूटे भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते ….. वक़्त की शाख़ से लम्हें नहीं तोड़ा करते”

जिंदगी भी तवायफ की तरह होती है

जिंदगी भी तवायफ की तरह होती है, कभी मज़बूरी में नाचती है कभी मशहूरी में ।

ख़ामोशी तुम समझोगे नहीं

चलो अब जाने भी दो..क्या करोगे दासता सुनकर.., ख़ामोशी तुम समझोगे नहीं,और बयां हमसे होगी नहीं…