ज़रा सी देर को तुम अपनी आँखें दे दो मुझे

ज़रा सी देर को तुम अपनी आँखें दे दो मुझे ये देखना है कि मैं तुम को कैसा लगता हूँ =मुईन शादाब

दुआ करों मैं कोई रास्ता निकाल सकूँ

दुआ करों मैं कोई रास्ता निकाल सकूँ, तुम्हे भी देख सकूँ, खुद को भी संभाल सकूँ। – निदा फाजली

चलो चुपके से एक सौदा कर लो

चलो चुपके से एक सौदा कर लो, . . . . . . . . . . . . . . . . . . मेरे बन जाओ या मुझे अपना कर लो..

प्यार ऐसे आलसी इन्सान से करो जो

*प्यार ऐसे आलसी इन्सान से करो जो* 😆😀👈🏻 😀😆😀 *छोड़ कर जाने की सोच से ही थक जाये* 😆😆😀😀😀

रख के हर चीज़ भूलने वाली

“रख के हर चीज़ भूलने वाली , . . . . . ला तेरा दिल संभाल कर रख लूँ..!”❤️

मोहब्बत वो जज्बा है जिसमें हारा नहीं जाता

मोहब्बत वो जज्बा है जिसमें हारा नहीं जाता । दफन होकर भी आशिकी को बिसारा नहीं जाता

महोब्बत लिबास नही जो हर रोज़ बदला जाए

महोब्बत लिबास नही जो हर रोज़ बदला जाए महोब्बत कफ़न है पहन कर उतारा नही जाता ……….!

किसी से बस उतना ही दूर होना

किसी से बस उतना ही दूर होना की उसे आपकी अहमियत का एहसास हो जाए इतना भी दूर ना हो जाना की वो आप के बिना जीना सीख ले❗️

बड़ी दिल फरेब सी है तेरी ये अदा

बड़ी दिल फरेब सी है तेरी ये अदा ना चैन लेने दे, ना ही कोई सुकून दे

उन की आग़ोश में सर हो ये ज़रूरी तो नहीं

ला रहे हैं नींद के #आग़ोश में अश्क़ मुझको थपकियां देते हुए… नींद तो दर्द के बिस्तर पे भी आ सकती है उन की #आग़ोश में सर हो ये ज़रूरी तो नहीं