किसी से बस उतना ही दूर होना

किसी से बस उतना ही दूर होना की उसे आपकी अहमियत का एहसास हो जाए इतना भी दूर ना हो जाना की वो आप के बिना जीना सीख ले❗️

कोई ऐसा कर बहाना मेरी आस टूट जाए

तेरे वादों पे कहाँ तक मेरा दिल फ़रेब खाए
कोई ऐसा कर बहाना मेरी आस टूट जाए

~फ़ना निज़ामी कानपुरी

उन की आग़ोश में सर हो ये ज़रूरी तो नहीं

ला रहे हैं नींद के #आग़ोश में
अश्क़ मुझको थपकियां देते हुए…

नींद तो दर्द के बिस्तर पे भी आ सकती है
उन की #आग़ोश में सर हो ये ज़रूरी तो नहीं

1