बस अच्छा लगता है

तुम्हारा होना बिल्कुल रविवार की सुबह जैसा है, कुछ सूझता नहीं है…. बस अच्छा लगता है !!!

मुझसे जो भी नफरत करते है सुकून से करे

मुझसे जो भी नफरत करते है सुकून से करे . . . मैं भी हर शख्स को मोहब्बत के काबिल नही समझता

इश्क़ का हिसाब

इश्क़ का तो ऐसा हिसाब है कि . . . बंद हो चुका नंबर भी डिलीट करने को दिल नहीं करता…!!

बहुत बुरा हूँ मैं

सफाईयाँ देना छोड़ दिया है मैंने, सीधी सी बात… बहुत बुरा हूँ मैं……..!!

जो हासिल ना हो सका

मिलता तो बहुत कुछ है इस ज़िन्दगी में…. बस हम गिनती उसी की करते है, जो हासिल ना हो सका….

सिर्फ तेरा साथ चाहिये

काश तुम पूछो की मुझसे क्या चाहिये, मैं पकडू बस तेरा हाथ और कहूँ सिर्फ तेरा साथ चाहिये…

रिश्तों को कभी धोखा मत दो

रिश्तों को कभी धोखा मत दो, पसंद ना आऐ तो उसे पूर्णविराम कर दो

दूर रहकर भी

दूर रहकर भी आपकी ख़बर रखते हैं.. हम पास आपको कुछ… इस कदर रखते हैं

नफरत

बहुत पाक रिश्ते होते है नफरतों के, कपड़े अक्सर मोहब्बत में ही उतरते हैं…

मोहब्बत

मोहब्बत भी उधार कि तरह होती है …. “साहब” लोग ले तो लेते है .. मगर देना भूल जाते है.