Category: शायरी

रख के हर चीज़ भूलने वाली

“रख के हर चीज़ भूलने वाली ,

.

.

.

.

.

ला तेरा दिल संभाल कर रख लूँ..!”❤️

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

गुनगुनी धुप सा मजा देती है

सुनो…
तुम्हारी याद भी इस दिसम्बर में,
गुनगुनी धुप सा मजा देती है…

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

नवम्बर से बचे हैं तो दिसम्बर ने मार डाला

तुम्हारे बाद ग़ुज़रे हैं भला कैसे हमारे दिन,

नवम्बर से बचे हैं तो दिसम्बर ने मार डाला…

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

ऐ दिसम्बर तू सब कुछ ले आया है सिवाय उसके

ये सर्द हवाएँ,बिखरे पत्ते और तन्हाई,

ऐ दिसम्बर तू सब कुछ ले आया है सिवाय उसके…

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

तू दिसम्बर की तरह है

ये कैसा ख्याल है तेरा,

जो मेरा हाल बदल देता है,

तू दिसम्बर की तरह है,

जो पूरा साल बदल देता है..!

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

कोई ऐसा कर बहाना मेरी आस टूट जाए

तेरे वादों पे कहाँ तक मेरा दिल फ़रेब खाए
कोई ऐसा कर बहाना मेरी आस टूट जाए

~फ़ना निज़ामी कानपुरी

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

जिंदगी नाव की मानिंद यूँ ही बस चलती रहे

जिंदगी नाव की मानिंद यूँ ही बस चलती रहे
मुहब्बत की आग प्यासे दिलों में जलती रहे
लहरें तो सदा #आग़ोश में लेने को मचलती है
कुछ दूर से ही नज़रों से ये नज़र मिलती रहे

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

याद कर लेना मुझे तुम कोई भी जब पास न हो

याद कर लेना मुझे तुम कोई भी जब पास न हो

चले आएंगे इक आवाज़ में भले हम ख़ास न हों

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
1

“इश्क” आता तो दबें पाव है

“इश्क” आता तो दबें पाव है

“शोर” तो उसके “टूटने” पर होता है❤️….

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

राह में खतरे भी हैं लेकिन ठहरता कौन है

राह में खतरे भी हैं लेकिन ठहरता कौन है.
मौत कल आती है आज आ जाए डरता कौन है.

तेरे लश्कर के मुक़ाबिल में अकेला हूँ मगर
फैसला मैदान में होगा के मरता कौन है….

– राहत इंदौरी

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry