इतना भी नाराज़ नहीं होना चाहिए

इतना भी नाराज़ नहीं होना चाहिए, की मनाने वाले भी बोले दे . . . भाड़ मे जा 😂😂😂

दिसम्बर की ये आखिरी शामें

लिपट लिपट कर कह रही हैं, दिसम्बर की ये आखिरी शामें, . . . अलविदा कहने से पहले एक बार गले तो लगा लो…!

ये दिसम्बर भी बीतेगा

ये दिसम्बर भी बीतेगा पिछले साल की तरह, . . . इसे भी तुम्हारी तरह रुकने की आदत नहीं।