राखी कौन बाँधेगा

किसी के ज़ख़्म पर चाहत से पट्टी कौन बाँधेगा . . . अगर बहनें नहीं होंगी तो राखी कौन बाँधेगा… – मुनव्वर राना #HappyRakshabandhan

मैं आज़ादी का त्यौहार हूँ

तिनका-तिनका जिसका जल उठे वो आग की फुहार हूँ न कल झुका-न कल झुकूंगा मैं हिम्मत का एक पहाड़ हूँ हिन्दी भी हूँ-उर्दू भी हूँ हर धर्म का संसार हूँ मन्दिर में हूँ-मस्ज़िद में हूँ हर शख़्स का मैं प्यार हूँ भारत है मेरी आन-बान मैं आज़ादी का त्यौहार हूँ …