मीठा झूठ

मीठा झूठ ‘ बोलने से अच्छा है ‘ कड़वा सच ‘ बोला जाए
इससे आपको ‘ सच्चे दुश्मन ‘ जरूर मिलेंगे लेकिन ‘ झूठे दोस्त ‘ नहीं

1

Leave a Reply