कल मिले आज याद नहीं

कल मिले आज याद नहीं
शायद थी उन्हें तब फुर्सत
जब रुके मोड़ पे उनके हिसाब से नहीं

Leave a Reply