Tag: barish

काश भीगता कभी तू

काश भीगता कभी तू
मेरे सुखन की बारिश में।

कतरा – कतरा जज़्बात,
तेरी जड़ों में रिस जाते।।

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
1

मेरे घर की छत से रिसती है

मेरे घर की छत से रिसती है मेरी असफलताएं

बरसातों में और मेरी अवस्था मेरा उपहास उड़ाती है…

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry